ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण(breast cancer symptoms)

1. स्तन या कांख के आसपास गांठ होना (Lump in the Breast or Armpit)

स्तन या कांख के आसपास गांठ का होना ब्रैस्ट कैंसर का शुरुआती संकेत हो सकता है। यह गांठ ज्यादातर ठोस होती है और इसमें कोई दर्द नहीं होता। लेकिन कुछ मामलों में इसमें दर्द भी हो सकता है।
यदि आपको गांठ है तो भयभीत न हों, क्योंकि यह हमेशा कैंसर का कारण नहीं होती। स्तन में गांठ होने के अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे शरीर में हॉर्मोन्स का बदलाव, ब्रैस्ट में इन्फेक्शन होना या टिश्यू का डैमेज होना। इसलिए जब भी आपको ब्रैस्ट या कांख में गांठ महसूस हो तो डॉक्टर से जाँच कराकर इसके होने का सही कारण पता लगायें।

2. स्तन में लालिमा या सूजन होना (Red or Swollen Breasts)

जब भी ब्रैस्ट में दर्द या सूजन होती है तो ज्यादातर महिलाएं यही सोचती हैं कि यह प्रागार्तव (premenstrual syndrome) के कारण हो रहा है और जब भी ब्रैस्ट में गर्माहट महसूस होती है और यह लाल दिखने लगते हैं तो उन्हें लगता है कि यह इन्फेक्शन के कारण है और कुछ दिनों में ठीक हो जायेगा। लेकिन ब्रैस्ट में सूजन, दर्द और रेडनेस (लालिमा) होना भी कैंसर का शुरुआती लक्षण हो सकता है।
स्तन के अन्दर मौजूद ट्यूमर टिश्यू के ऊपर दबाव डालता है जिससे उनमें सूजन, दर्द और रेडनेस होने लगती है। कुछ मामलों में यह सूजन कांख या पसली के आसपास भी हो सकती है।

3. निप्पल निर्वहन (Nipple Discharge)

निप्पल को बिना दबाये या टच करे ही यदि वह डिस्चार्ज हो जाते हैं तो यह भी एक कैंसर का कारण हो सकता है। यदि स्तन से दूध के आलावा कोई और पदार्थ जैसे मवाद, रक्त आदि निकलता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
जब दुग्ध नलिकाओं (milk ducts) में ट्यूमर बनने लगता है तो यह उनमें प्रेशर पैदा करने लगता है जिससे अपने निप्पल डिस्चार्ज होने लगता है।

4. स्तनों या छाती के आसपास दर्द होना (Pain in the Breast or Chest Area)

यदि आपको ब्रैस्ट या छाती के आसपास दर्द या तेज चाकू लगने जैसा अनुभव होता है तो यह अच्छा संकेत नहीं है। ब्रैस्ट में तेज दर्द होना या करंट लगने जैसा अनुभव होना भी ब्रैस्ट कैंसर का शुरुआती लक्षण हो सकता है।
चूंकि यह जरूरी नहीं कि स्तनों में दर्द होने पर कैंसर ही हो, क्योंकि किसी अन्य अन्य हेल्थ प्रॉब्लम के कारण भी यह समस्या हो सकती है। कई बार शरीर में हार्मोनल परिवर्तन के कारण भी स्तनों में दर्द होने लगता है। इसलिए जब भी आपको दर्द हो तो डॉक्टर से जाँच कराकर उचित ट्रीटमेंट लें।

5. स्तन के रूप में बदलाव आना (Changes in Breast Appearance)

स्तन के शेप या साइज में किसी भी प्रकार का बदलाव आना भी चिंता का विषय हो सकता है। आपको अपने स्तनों की साइज, विषमता और सरफेस में बदलाव का ध्यान रखना भी जरूरी है।
ब्रैस्ट के अन्दर अनियमित टिश्यू ग्रोथ होने के कारण उसके शेप और साइज में बदलाव आता है।
चूंकि इन बदलावों को देख कर ही पता लगाया जा सकता है, इसलिए रोज आइने के आगे अपने स्तनों के शेप, साइज और सरफेस की जाँच किया करें।

6. निप्पल का संवेदनशील होना (Nipples Become Sensitive)

निप्पल दिखावट या संवेदनशीलता में बदलाव आना भी ब्रैस्ट कैंसर का शुरुआती लक्षण हो सकता है। अक्सर ब्रैस्ट कैंसर निप्पल के बिलकुल नीचे मौजूद होता है जिससे निप्पल की दिखावट और संवेदनशीलता में बदलाव आ सकते हैं। इसके आलावा निप्पल टेड़ा, चपटा या दांतेदार भी हो सकता है।

7. स्तनों में खुजली होना (Itching on the Breasts)

स्तनों में बिना किसी कारण खुजली होना भी ब्रैस्ट कैंसर का शुरुआती लक्षण हो सकता है, लेकिन यह बहुत ही दुर्लभ कारण है। यह ज्यादातर इन्फ्लामेट्री ब्रैस्ट कैंसर के केसेस में होता है। ट्यूमर के कारण ऊपर की स्किन लाल, सूजी हुई, दर्दनाक और खुजलीदार हो सकती है।
इस दौरान खुजली काफी ज्यादा होती है और आपको खरोंच-खरोंच कर खुजाने का मन करता है। लेकिन काफी खुजाने के बाद भी और दवा या लोशन लगाने के बाद भी खुजली से आराम नहीं मिलता।

8. पीठ के ऊपरी भाग, कन्धों और गर्दन में दर्द होना (Pain in the Upper Back, Shoulder and Neck)

जब ट्यूमर रीढ़ की हड्डी तक फैल जाता है तो पीठ के उपरी हिस्से, कन्धों और गर्दन में अचानक दर्द होने लगता है। अक्सर लोग इस दर्द को मांसपेशियों में ऐंठन, रीढ़ का ऑस्टियोआर्थराइटिस या थकान के कारण होने वाला दर्द समझने लगते हैं। यदि यह दर्द कैंसर के कारण हो रहा है तो यह मांसपेशियों को स्ट्रेच करने से या दर्द निवारक दवा खाने से ठीक नहीं होगा।
इसलिए यदि आपको अपनी ऊपरी पीठ, कन्धों और गर्दन में दर्द रहता है जो बहुत नुस्खे अपनाने के बाद भी ठीक नहीं होता तो तुरंत अपने डॉक्टर से ब्रैस्ट कैंसर की जांच कराएँ।

Please follow and like us:
Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.
Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial